25 thoughts on “Random 44: An empty nest

  1. बहुत सुन्दर दोहा मुक्ति में जीवन है 👌🌷 लेकिन वह इतना आसान नहीं होगा कि अपने प्रज्ञता और यादें मिटाना , सोचिए 👍🏻🌷🙏😊

    Liked by 1 person

    1. नमस्कार, जी सही कहा आपने। आसान तो न होगा किन्तु पुरानी यादों के बोझ तलें आज की खुशियों को नजरअंदाज करना ठीक न होगा। यदि हम चाहे तो हम अपना आज खूबसूरत बना सकते हैं। 🙏

      Liked by 1 person

      1. बहुत अच्छा 👌🌷 आप कितना कोशिश कर लो पुरानी सुख दुख की यादें कभी न भूल
        सकोगे !! लिखने को बहुत आसान है, पर अपने आप वो पुरानी यादें ताज़ा हो कर हमारे मन में
        आता जाता ही रहेगा , पर हम अपनी यादों को संझाएँ और हम अपना आज ख़ूबसूरत बना
        सकते हो 👍🏻🌷हमारी ज़िंदगी की वास्तविकता यही है 🌷🙏🌷

        Liked by 1 person

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.