ऐसा क्यों होता है…

ऐसा क्यों होता है

चार दुकाने घूमने के बाद ख़रीदा अदरक छटाक भर,

घर आने पर, उसे धोने पर अहसास ये होता,

वो पांचवी दुकान जहाँ हम गए नहीं,

वहां का अदरक इससे अच्छा होगा।

-रुपाली

(यहाँ अदरक मेटाफोर या रूपक है )