Tag Archives: Shayari

आधुनिकता

कुत्ते की हर जरूरियात याद है उसे, बस माँ-बाप का गठिया दिमाग से उतर जाता है। -रुपाली *** यहाँ “कुत्ता” ये शब्द “मेटाफोर” है “स्टेटस सिंबल ” के लिए। ऐसे काफी लोग हैं जो अपने स्टेटस सिंबल को ज्यादा तवज्जों … Continue reading

Posted in Hindi, Uncategorized | Tagged , , , , , , , | 4 Comments

शोर

पास बैठे मैं दिल की कहती रही, अचानक उन्होंने पूछा ये शोर कैसा है। -रुपाली

Posted in Hindi, Uncategorized | Tagged , , , , | 20 Comments

इतना बता दे…

बस इतना बता दे, झूट क्या है, तेरी आँखें या तेरी बातें। -रुपाली

Posted in Hindi, Uncategorized | Tagged , , , , | 16 Comments

काश

मेरे द्वारा खींची तस्वीर के लिए कुछ शब्द… यूं तारों पे न बसर होता, काश उसकी गली में अपना मकां होता। बहुत कुछ लुटा देते उस पर, गर थोड़ी सी जमीं, थोड़ा सा आसमां  होता। -रुपाली

Posted in Others, Uncategorized | Tagged , , , , , , , | 15 Comments

खुशमिजाजी!

मेरे द्वारा खींची तस्वीर के लिए कुछ शब्द- काम के तो न हम कल थे, न आज हैं। खुशमिजाजी यूं ही तो बरकरार नहीं रहती। -रुपाली (ये तस्वीर मिनिमल (न्यूनतम – जिसमे आपका विषय कम से कम दिखयी दे )फोटोग्राफी दर्शाने के … Continue reading

Posted in Hindi, Uncategorized | Tagged , , , , , , , , , , | 7 Comments

“perfect” क्या है बस एक ख्याल …

माँ ने इक उम्र पति के ऐबों को छुपाते गुज़ार दी, बेटियाँ अपना पति अपने पिता की तरह “perfect” नहीं, इस एहसास-ए-कमतरी में गुज़ार रही हैं। – रुपाली

Posted in Hindi, Uncategorized | Tagged , , , , , , , | 4 Comments

नमी (moisture in eyes)

मेरे द्वारा खींची एक और तस्वीर के लिए कुछ शब्द – जिंदगी में खुशियाँ कुछ कम नहीं, पर आँखों की नमी है ज्यादा -रुपाली Fellow bloggers please help me translating it in English.

Posted in Hindi, Uncategorized | Tagged , , , , , | 10 Comments

मंज़िल को पाने का भ्रम

मेरे द्वारा खींची तस्वीर के लिए कुछ शब्द मंज़िल को पाने का भ्रम: मंज़िलों की कहानी भी अजीब है यारों जो पास आने का अहसास हो तो फ़ौरन बदल जाती है -रुपाली

Posted in Hindi, Uncategorized | Tagged , , , , , , , , , | 8 Comments

जी लो जिंदगी …

जिंदगी छोटी छोटी खुशियों में मुस्कुराती है। जी लो जिंदगी … पूरे चाँद की तमन्ना में न जाने कितनी रातें यूं ही गवां दी। काश की एक झलक में तसल्ली हो जाती। – रुपाली Little pleasures of life: It has … Continue reading

Posted in Hindi, Uncategorized | Tagged , , , , , , , , | 12 Comments

Hindi shayari: एक आंसू

चित्र और शब्द मेरे हैं बस तेरा एक आंसू काफ़ी था, मेरी सारी दास्तां डुबोने के लिए। -रुपाली

Posted in Hindi, Others, Uncategorized | Tagged , , , , , , , | 15 Comments